तीन दिन तक भट्ठी में पत्रकार को भूना

2306

Bikaner / khabarthenews.com

सऊदी अरब के पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या के मामले में नया खुलासा हुआ है। इस खुलासे में पता चला है कि जमाल खशोगी की हत्या के बाद उनकी बॉडी को तुर्की स्थित सऊदी अरब के राजदूत के घर में एक बड़ी सी भट्टी में डालकर भून दिया था।

दरअसल अल जजीरा अरेबिक चैनल द्वारा बनायी गई एक डॉक्यूमेंट्री में इसका खुलासा हुआ है। यह डॉक्यूमेंट्री बीते रविवार को प्रसारित की गई। डॉक्यूमेंट्री में बताया गया है कि जमाल खशोगी के शव को बैग में भरकर सऊदी अरब राजदूत के निवास पर लाया गया, जहां उसे बड़ी सी भट्ठी में भून दिया गया। गौरतलब है कि तुर्की के जांच अधिकारी जब सऊदी अरब राजदूत के निवास पर पहुंचे थे, उस वक्त उनके घर पर स्थित भट्ठी में आग जल रही थी।

जमाल खशोगी सऊदी अरब मूल के पत्रकार थे, जो कि कई बार अपने लेखों में सऊदी के शाही परिवार के खिलाफ लिख चुके थे। बीती साल 2 अक्टूबर को जमाल खशोगी तुर्की स्थित सऊदी दूतावास पहुंचे थे। लेकिन उसके बाद उनका कुछ पता नहीं चला।

सीआईए की एक रिपोर्ट में दावा किया गया था कि जमाल खशोगी की हत्या के पीछे सऊदी अरब के युवराज मोहम्मद बिन सलमान का हाथ हो सकता है। हालांकि सऊदी अरब की तरफ से इन खबरों को नकार दिया गया था। खबर के अनुसार, जिस भट्ठी में खशोगी को जलाने की बात कही जा रही है, वह काफी बड़ी गहरी है, जो कि 1000 डिग्री सेल्सियस तक तापमान को झेल सकती है।

खबर में तुर्की के अधिकारियों के हवाले से लिखा गया है कि खशोगी की हत्या के बाद भट्ठी में बड़ी मात्रा में मीट भूना गया था, ताकि जमाल खशोगी की हत्या को छिपाया जा सके। माना जा रहा है कि खशोगी की बॉडी ने भ_ी में जलने में 3 दिन का समय लिया।

तुर्की के जांच अधिकारियों ने सऊदी अरब के राजदूत के कार्यालय में खून के धब्बे भी खोजे थे। अल जजीरा अरेबिक की यह डॉक्यूमेंट्री सुरक्षा अधिकारियों, जांच अधिकारियों, राजनेताओं और खाशोगी के दोस्तों के साथ बातचीत के आधार पर बनायी गई है।

सऊदी अरब में जमाल खशोगी की हत्या के आरोप में 11 लोगों को हिरासत में लिया गया था। हालांकि सऊदी ने इन आरोपियों का तुर्की प्रत्यर्पण करने से इंकार कर दिया था।

अपना उत्तर दर्ज करें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.