इस बार पैराशूटी को टिकट नहीं मिलेगी- शशि शर्मा

3192

डूडी साहब से मेरे पारिवारिक संबंध

बीकानेर। शशिकांत शर्मा विगत दो दशकों से पॉलिटिकल वर्कर है। कभी भाजपा के जिलाध्यक्ष रहे शशि शर्मा ने अपनी राजनीतिक पारी जनता दल से शुरू की थी। पिछले चुनाव से पहले गोपाल गहलोत के समर्थन में पार्टी छोड़कर आए या लाए गए ये अलग विषय है लेकिन उन्होंने गोपाल गहलोत का साथ दिया। राजनीतिक महत्वकांक्षा उनमें हमेशा से रही। हालांकि किसी भी चुनाव का टिकट उन्हें कभी मिल नहीं पाया ।इस बार प्रतिपक्ष नेेता रामेश्वर डूडी के सहारे वे बीकानेर पूर्व से कांग्रेस की टिकट की जुगत में हैं।

सियासत के सूरमा में आज शशि शर्मा से बेबाक बात….

khabarthenews.com- आपको ही टिकट क्यों?

शशि शर्मा- मैं जनता का सहयोगी हूँ। पार्टी में सक्रिय हूँ। पार्टी से इतर भी लोगों का साथ है। जातिगत राजनीति से बंधा हुआ नही हूँ सभी वर्गों का साथ और स्नेह है। लोगों से व्यक्तिगत सम्पर्क में हूँ। पार्टी ने टिकट दिया तो पार्टी से बाहर के लोग भी मदद करेंगे। मैं जहाँ बैठता हूँ आप देख लिजिए वहां सभी दल और वर्ग के लोग मेरे साथ चर्चा में शामिल होते हैं।

khabarthenews.com- आप भी गोपाल गहलोत कैम्प से आते हैं वे ज्यादा मजबूत दावेदार नजर आते हैं?

शशि शर्मा- मेरी उनसे प्रतिस्पर्धा नहीं है मैं भी टिकट मांग रहा हूँ वे भी। राजनीति में सबको अधिकार है देना ना देना पार्टी का काम।

khabarthenews.com- कांग्रेस की टिकट में रामेश्वर डूडी आपको समर्थन करेंगे?

शशि शर्मा- डूडी साहब से मेरे पारिवारिक सम्बंध है । भाजपा में मैं सहज नहीं था उस वक्त कांग्रेस में आया तो डूडी साहब ने मदद की। राहुल गांधी जी ने कांग्रेस जॉइन करवाई।

khabarthenews.com- सुना है पर डूडीजी ने तो एक-दो नाम और आगे बढ़ाए हैं?

शशि शर्मा- देखिए ये पार्टी आलाकमान का काम है किसे टिकट देनी है। राहुल जी कह चुके हैं पैराशूटी उम्मीदवार नहीं चलेंगे।

khabarthenews.com- क्या मुद्दे लगते हैं आपको इस चुनाव में बीकानेर के?

शशि शर्मा- देखिये सबसे बड़ा मुद्दा है बीकानेर शहर में राजनीतिक शून्यता। यहाँ अफसर ही अपनी मनमानी करते हैं नेताओ की कोई सुनता ही नहीं। पांच साल अफसरों ने अपने हिसाब से काम किया ये मुद्दा है। ऐसे नेता हो जो अपने कार्यकर्ता के लिए तो लड़ सके। बीकानेर में सरकारी कार्यालयो में भ्रष्टाचार बढा है ये मुद्दा है। खराब स्वास्थ्य सेवाएं और बेहाल शहर किसी छिपा नहीं

khabarthenews.com- आप पर आरोप लगता है कि आप मीडिया मैनेज करते रहे हैं?

शशि शर्मा- मीडिया मैनेज नहीं हो सकता है। मेरी बात सच होती है इसलिए मीडियाकर्मियों का विश्वास बढ गया है, इससे ज्यादा कुछ नहीं।

khabarthenews.com- आप पर विरोधी आरोप लगाते है कि आप धन की व्यवस्था राजनीति के जरिए करते हैं?

शशि शर्मा- एक आदमी बता दीजिए जो ये कह दे कि मैंने अपने काम के बदले कोई राशि दी मैं उसी दिन राजनीति छोड़ दूंगा। कुछ लोग मेरी आम लोगों से कनेक्टिविटी से जलते हैं इसलिए कुछ नहीं मिलता तो ऐसी बात करते है।

khabarthenews.com- टिकट नहीं मिली तो?

शशि शर्मा- मेरा दावा मजबूत है। जनता के बीच काम करता रहूंगा।

अपना उत्तर दर्ज करें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.