पैपा 27 अगस्त को करेगा विरोध प्रदर्शन

2190

बीकानेर। शिक्षा विभाग के रोज रोज के दमनकारी फरमानों से आजीज आकर आखिरकार गैरसरकारी शिक्षण संस्थाओं ने एकजुट होने का फैसला करते हुए सरकार से संघर्ष करने का निर्णय लिया है।

यह फैसला यहां बिस्कुट गली स्थित स्काउट व गाइड के स्थानीय संघ, बीकानेर के परिसर में प्राइवेट एज्यूकेशनल इंस्टीट्यूट्स प्रोसपैरिटी एलायंस (पैपा) द्वारा आयोजित ‘एकता ही अस्मिताÓ विषयक खुला मंच कार्यक्रम में लिया गया।

पैपा के प्रदेश समन्वयक गिरिराज खैरीवाल ने बताया कि 27 अगस्त को दोपहर दो बजे गांधी पार्क में जिले के गैर सरकारी शिक्षण संस्थाओं के संचालक एकत्रित होकर डीईओ कार्यालय और निदेशालय के समक्ष अपनी जायज मांगों के तुंरत समाधान के संबंध में विरोध प्रदर्शन करेंगे।

खैरीवाल ने बताया कि इस अवसर पर पैपा के अलावा स्कूल शिक्षा परिवार के कोलायत ब्लाक के प्रभारी खींयाराम सैन व राजेंद्र पालीवाल, नोखा निजी विद्यालय संघ के अध्यक्ष रामस्वरूप ज्याणी व महामंत्री इंद्रसिंह तथा स्वयं सेवी शिक्षण संस्था संघ के प्रवक्ता शैलेष भादाणी ने संयुक्त रूप से एकजुट होकर संघर्ष का बिगुल बजाने की घोषणा की।

इस अवसर पर नोखा निजी विद्यालय संघ के अध्यक्ष रामस्वरूप ज्याणी ने फीस बकाया होने के बावजूद टीसी काटने के आदेश पर सवाल खड़े किए तो स्कूल शिक्षा परिवार के खींयाराम सैन ने फीस एक्ट के संबंध में चर्चा की। शैलेष भादाणी ने नई शिक्षा नीति के खतरनाक बिंदुओं पर प्रकाश डाला।

इस अवसर पर नागौर के मारवाड़ मूंडवा के दयानंद शर्मा और कालूसिंह बडग़ूजर ने भी एकजुटता की महती आवश्यकता प्रकट की। पैपा के घनश्याम साध, कृष्ण कुमार स्वामी, रमेश बालेचा, मनोज कुमार राजपुरोहित, दीपक यादव, हरिकिशन व्यास, आनंद पुरोहित अब्दुल समद कादरी इत्यादि ने गैर सरकारी शिक्षण संस्थाओं की विभिन्न समस्याओं का उल्लेख करते हुए उनके तुरंत समाधान के लिए सरकार व विभाग से संघर्ष करने के लिए आह्वान किया।

अपना उत्तर दर्ज करें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.