मोदी जो कहते हैं, करते हैं गजेन्द्र सिंह शेखावत

0
2226

केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत बीकानेर दौरे पर रहे। आरएसएस के क्षेत्रीय प्रचारक दुर्गादास के पिता के निधन पर शोक जताने उनके निवास पर पहुंचे। देश और राज्य के कई मसलों पर खुलकर बातचीत के साथ जम्मू कश्मीर में धारा 370 व राज्य में अरसे से आईजीएनपी में आ रहे गंदे पानी की समस्या, नदियों के जल बंटवारे जैसे मसलों पर शेखावत खुलकर बोले।

प्रश्न- कश्मीर को लेकर देश में उत्साह की बात कही जा रही है लेकिन कांग्रेस के राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री से सवाल पूछा है कि वहां मौतें हो रही हैं जनता कश्मीर की वास्तविक स्थिति जानना चाहती है?

गजेन्द्र सिंह शेखावत- देखिए ऐसा बिल्कुल नहीं है कि वहां लोगों की हत्या हुई हो। इसके उलट कश्मीर ने पिछले तीन दशक में 41000 से अधिक लोगों की मौत देखी है लाखों लोग घायल हुए हैं। घाटी 370 की बाध्यता के कारण से खून से रंगी हुई थी। अब उस बाध्यता से मुक्त हुई है और यह न केवल देश के लिए सम्मान का विषय है अपितु कश्मीर के लिए भी उत्थान का रास्ता खोलने वाला विषय है। भारत की संसद जो लोक कल्याण के लिए कानून पास करती थी वह भी 370 और 35ए के कारण लागू नहीं हो पाता था। आप कल्पना कीजिए कश्मीर में  ना कोई भ्रष्टाचार निरोधक कानून था ना कोई शादी के लिए उम्र तय थी। 10-10 साल की बच्चों की शादी कर दी जाती थी। विकास के नाम पर जो पैसा देश की सरकार के नाम से जाता था वह देश के दूसरे हिस्सों की बजाय 4 गुना पैसा भेजने के बाद भी वहां कोई विकास नहीं हो पाया क्योंकि उसका कोई ऑडिट नहीं था। मैं यह मानता हूं कि कश्मीर के लोगों के भाग्य का दरवाजा खोलने का काम भारत के प्रधानमंत्री मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने किया है और मैं यह भी मानता हूं कि जो कुछ उंगलियों पर गिने जाने वाले लोग या ऐसे 3 परिवार हैं जिन्होंने पूरे कश्मीर के भाग्य को अपनी मु_ी में कैद कर रखा था लगता है देश आजाद 1947 में हुआ था कि कश्मीर अब आजाद हुआ है।

प्रश्न- लेकिन शेखावत जी जिस तरह की प्रक्रिया अपनाई गई उसको लेकर सवाल खड़े हो रहे हैं?

गजेन्द्र सिंह शेखावत- (हँसते हुए) देखिए 370 और 35ए में पहले जैसे कांग्रेस ने अपने समय में संविधान में संशोधन किया वैसे ही अब किया गया। आप करे तो सब ठीक है और कोई दूसरा करे तो गलत ये कैसे ठीक हो सकता है।

प्रश्न- बीकानेर संभाग सहित पश्चिमी राजस्थान की जीवन रेखा ढ्ढत्रहृक्क में गंदा पानी यहाँ के लोगो के लिए बड़ी समस्या बन गया है?

गजेन्द्र सिंह शेखावत- यह बात सही है आपने इस विषय पर कई बार स्टोरीज भी की है। प्रधानमंत्री मोदी जी द्वारा इस मंत्रालय का प्रभार दिए जाने के बाद से ही मैंने इस पर काम शुरू कर दिया था। मैंने एक टीम का गठन करके सब्जेक्ट एक्सपोर्ट्स और इस विषय से जुड़े हुए सारे विशेषज्ञों को एक टीम बनाकर लुधियाना जहां सबसे ज्यादा पोल्यूटेड वॉटर सतलज नदी में छोड़ा जाता है वहां भेजा। उन्होंने जो वहां प्रेजेंट इंफ्रास्ट्रक्चर वाटर ट्रीटमेंट का और इंडस्ट्री इंफ्लूमेन्ट ट्रीटमेंट का था उसका अध्ययन किया। जो रिपोर्ट उन्होंने भेजी है वह वाकई भयावह थी। यह दोनों ही ट्रीटमेंट प्लांट काम नहीं कर रहे थे और सारा पानी सीधे ही सतलज में छोड़ा जा रहा था और यहां तक जो बैट्री इंडस्ट्री है वह आर्सेनिक  युक्त पानी ही सीधा छोड़ रहे थे ।इसके बाद हमने कठोर भाषा में पंजाब के मुख्यमंत्री को पत्र लिखा पंजाब के मुख्यमंत्री हमसे मिलने के लिए भी आए थे उनसे इस बात के लिए आग्रह किया कि आपको इस पर शीघ्र कार्यवाही करनी करनी चाहिए। मैं बेहद प्रसन्नता के साथ कह सकता हूं कि उसके बाद जो कार्रवाई शुरू हुई है। 42 बेहद पोल्यूटिंग इंडस्ट्री को क्लोजर नोटिस इशू कर उनको बंद करने की कार्रवाई शुरू कर दी है यदि 1 महीने के भीतर ऐसा नहीं हुआ तो हम पॉल्यूशन एक्ट के तहत बंद करने की कार्रवाई करेंगे। साथ ही साथ नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने भी इस दिशा में कठोर कदम लेते हुए वहां की नगर निगम और इंडस्ट्रीज एसोसिएशन पर पांच-पांच करोड़ रुपए की पेनल्टी इंपोज की है।

प्रश्न- भारत से पाकिस्तान जाने वाले पानी को रोकने की बातें भाषणों में लगातार हो रही है जमीनी स्तर पर क्या किया जा रहा है?

गजेन्द्र सिंह शेखावत- यह बेहद महत्वपूर्ण सवाल है भारत-पाकिस्तान का जब बंटवारा हुआ तो उस समय इंडस वैली की 6 नदियों का भी बंटवारा हुआ था। तीन प्रमुख नदियां झेलम, चेनाब और सिंधु पाकिस्तान की हिस्से में आई थी। जो इस्ट की तरफ फ्लो करती हैं वे 3 नदियां भारत के हिस्से में आई थी। मैं बेहद श्रद्धा और सम्मान के साथ यह उल्लेख करना चाहता हूं की महाराजा गंगा सिंह बेहद दूरदर्शिता वाले शासक थे उन्होंने गंग नहर का निर्माण कराया था जिसके चलते हमें तीन नदियों का पानी हमें मिल पाया अन्यथा शायद इतना पानी नहीं मिल पाता। यह जो पानी हमें मिला इस पानी के बाद भी कुछ नदियों का पानी पाकिस्तान में जाता है। इसका तकनीकी अध्ययन हुआ है माननीय प्रधानमंत्री जी का निर्देश है कि इस मामले में शीघ्रता के साथ कार्रवाई करनी चाहिए ।हम इसको लेकर गंभीर हैं लोगों की भावनाओं से जुड़ा विषय है इस पर हम जल्द कुछ बेहतर करने की स्थिति में होंगे।

प्रश्न- राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी पाकिस्तान में पानी जाने से रोकने के लिए ट्वीट किया था क्या उनकी मंशा है या क्रेडिट पॉलिटिक्स चल रही है?

गजेन्द्र सिंह शेखावत- अब ट्वीट कर रहे हैं इससे पहले उनका शासन था और उससे पहले करीब 55 साल कांग्रेस सत्ता में रही। केंद्र और राज्य में उनके शासन रहा चाहे 370 की समस्याओं या जल के बंटवारे की समस्याएं, इन सबके रूट कॉज क्या है यह जनता समझ चुकी है।

प्रश्न- कांग्रेस लौटकर गांधी परिवार पर आ गई है तो क्या इससे अब विपक्ष को मजबूती मिलेगी सोनिया गांधी के अध्यक्ष बनने से?

गजेन्द्र सिंह शेखावत- हंसते हुए सारा देश जानता है यह कांग्रेस की मजबूती नहीं है उनकी मजबूरी है।

साभार : लक्ष्मण राघव

सम्बन्धित समाचार

क्या शेखावत हैं, शेखावत की राह पर…

केन्द्रीय राज्यमंत्री गजेन्द्र सिंह ने की कार्यकर्ताओं से रायशुमारी

शेखावत पहुंचे बीकानेर, लेंगे फीडबैक ..देखें वीडियो

मोदी 2.0 : राजस्थान से ये पांच बन सकते हैं मंत्री

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here