साहित्यकार, कार्टूनिस्ट और रंगकर्मी मिलकर बच्चों में भरेंगे कला के रंग

2352

चिल्ड्रन लिट्रेचर फेस्टिवल

मंगलवार सुबह दस बजे शुरू होगा थियेटर का पहला सत्र

मौके पर हाथों हाथ भी करा सकते हैं पंजीयन

बीकानेर khabarthenews.com

देश का पहला चिल्ड्रन लिट्रेचर फेस्टिवल मंगलवार से यहां अंत्योदय नगर स्थित रमेश इंग्लिश स्कूल के परिसर में शुरू होगा। तीन दिन के इस साहित्यिक उत्सव में देशभर के जाने माने साहित्यकार, थियेटर कलाकार और कार्टूनिस्ट हिस्सा ले रहे हैं। फेस्टिवल में स्कूली बच्चे बढ़चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं।

आयोजन समिति के सदस्य आनन्द हर्ष ने बताया कि मंगलवार को पहला सत्र विख्यात रंगमंच कलाकार व निर्देश गगन मिश्रा लेंगे। जिसमें बच्चों को थियेटर (रंगमंच) के बारे में बताया जाएगा। अभिनय की छोटी-छोटी बातों से बच्चों को भविष्य में एक्टिंग करने के गुर सिखाए जाएंगे, साथ ही इस क्षेत्र में मिलने वाले अवसरों से भी रूबरू कराया जाएगा।

उद्घाटन सत्र में देश विख्यात साहित्यकार डॉ. नन्दकिशोर आचार्य बच्चों से रूबरू होंगे। साथ ही नंदन की संपादक जयंति रंगनाथन बच्चों को बताएगी कि किस तरह कहानी के पात्र हमारे सामने आते हैं। कैसे आसपास की घटनाएं कहानी का रूप लेती है? दिल्ली की साहित्यकार प्रितपाल कौर भी बच्चों को शब्दों के महत्व बताएंगी। इस दौरान बच्चे भी अपने सवाल कर सकेंगे।

बुधवार को कार्टूनिस्ट अभिषेक तिवारी बच्चों के साथ करीब एक घंटे तक कार्टूनिंग पर चर्चा करेंगे। बच्चों को कार्टून बनाना सिखाया जाएगा। साथ ही इस दिन अन्य साहित्यिक विषयों पर चर्चा होगी।

गुरुवार को शब्दों के अनुशासन पर साहित्यकार मधु आचार्य विचार रखेंगे। साथ ही नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा (एनएसडी) के अध्यक्ष व राजस्थानी के विख्यात साहित्यकार अर्जुनदेव चारण बच्चों से रूबरू होंगे। मिश्री जैसी मीठी बातें करते हुए चारण बच्चों को किताबों से जुडऩे के लाभ गिनाएंगे।

इस फेस्टिवल में बीकानेर के दो दर्जन से अधिक विद्यालयों के बच्चे हिस्सा ले रहे हैं। समापन समारोह में राजस्थान सरकार के केबिनेट मंत्री डॉ. बी.डी. कल्ला भी रहेंगे।

पुस्तक प्रदर्शनी भी- इसी दौरान एक पुस्तक प्रदर्शनी भी शुरू होगी, जो तीन दिन तक अनवरत चलेगी। इसमें बीकानेर के लगभग प्रकाशनों के साथ ऑक्सफोर्ड युनिवर्सिटी प्रेस के उत्पादों की जानकारी मिल पाएगी।

अपना उत्तर दर्ज करें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.