केनरा बैंक में दो दिवसीय बहुस्तरीय विचारोन्मुख कार्यक्रम आयोजित

2203

बीकानेर। केनरा बैंक के क्षेत्रीय कार्यालय बीकानेर द्वारा दो दिवसीय बहुस्तरीय विचारोन्मुख कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें अंचल कार्यालय जयपुर के उपमहाप्रबंधक सुधाकार आहुजा की उपस्थिति में बीकानेर क्षेत्र की आमंत्रित शाखाओं के प्रतिनिधियों ने अपने विचार व सुझाव प्रस्तुत किये। जिसके तहत शाखा स्तर तक सार्वजनिक क्षेत्र के बैंको में उन्नयन पर गहन मंथन किया गया।

केनरा बैंक मैनेजर आरपी वर्मा ने बताया कि यह अपनी तरह का पहला परामर्श हैं, जहां शाखाओं को स्वयं अपने प्रदर्शन की समीक्षा करने, बैंकिंग क्षेत्र के समक्ष मुद्दों पर विचार-विमर्श करने और भविष्य के लिए रणनीति तैयार करने के लिए कहा गया। इस बैठक में अर्थव्यवस्था के विभिन्न क्षेत्रों में ऋण बढ़ाने के तरीकों और साधनों पर ध्यान केन्द्रित किया गया है।

नवाचार लाने के लिए प्रौद्योगिकी के उपयोग बढ़ाने और बड़े डेटा को विश्लेषिकी के लिए सक्षम बनाने के लिए और वरिष्ठ नागरिक की जरूरतों और आकांक्षाओं के साथ-साथ बैंकिंग को नागरिक, किसान, छोटे उद्योगपति, उद्यमी, युवा छात्र और महिलाओं के प्रति उत्तरदायी आदि को केन्द्रित रखते हुए विचार-विमर्श किया गया।

इन पर हुआ मंथन
बैंकिंग क्षेत्र के सामने आने वाली विभिन्न चुनौतियों पर विषय विशेषज्ञों द्वारा निम्नलिखित नौ विषयगतों में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों (पीएसबीएस) में सुधारों और उनके लिए भविष्य के रोडमैप पर सुझाव देने के लिए नंदन निलेकणी द्वारा डिजिटल भुगतान बढ़ाना, उदय कोटक द्वारा सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में कॉर्पोरेट प्रशासन, यू के सिंहा द्वारा भारत के सूक्ष्म लघु मध्यम उद्यमों के लिए ऋण, के सुब्रमण्य द्वारा सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में प्रौद्योगिकी का उपयोग, आदित्य पुरी द्वारा खुदरा ऋण-एक महान अवसर, प्राध्या, रमेश चंद एवं डॉ. एच के भनवाला द्वारा कृषि ऋण, डेविड रसक्केना द्वारा भारत में निर्यात ऋण, डॉ. चरन सिंह द्वारा वित्तीय ढ़ंाचा स्थापित करने की आवश्यकता, सौम्या कांति घोष द्वारा ए 5 ट्रिलियन अर्थव्यवस्था के बैंक ऋण सुलभ करना आदि पर बैठक में चर्चा की गई।

अपना उत्तर दर्ज करें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.