भीनासर की बेटी ने परदेश में बढ़ाया मान

2816
भीनासर की बेटी

अल्प समय में जुटाया 1530 यूनिट खून

बीकानेर। भीनासर में रहने वाली एक बेटी ने पूरे देश भर में बीकानेर का मान बढ़ाया है। आइआइटी बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय में मेडिकल इंजीनियर की पढ़ाई करते हुए बीकानेर की इस बेटी ने सिर्फ एक वर्ष के अल्पसमय में 15 सौ तीस यूनिट खून ‘लाइफ सेव’ के लिए एकत्र किया।

गुरुवार को विश्व रक्तदान दिवस के अवसर पर बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय के सभागार में आयोजित एक कार्यक्रम में उसे सम्मानित भी किया गया।

भीनासर में रहने वाले चैनप्रकाश गोलछा और शशि गोलछा की बेटी प्रियंका गोलछा तीन वर्ष पहले बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय में आईआईटी करने पहुंची थी। उस दौरान वहां प्रियंका के एक रिश्तेदार को खून की जरूरत थी। बड़ी मुश्किलों से खून मिला और रोगी की जान बच सकी। यह घटना प्रियंका के लिए प्रेरणा बन गई और उन्होंने रक्त एकत्रित करने की ठान ली। आइआइटी के छात्र-छात्राओं को जोड़ कर ‘ब्लड कनेक्ट’ संस्था बना ली। इस संस्था के माध्यम से उन्होंने सिर्फ एक वर्ष में 1530 यूनिट रक्त एकत्रित किया। इस दौरान उन्होंने अपने नेतृत्व में आठ रक्तदान शिविरों का आयोजन किया।

प्रियंका जब यहां आई हुई थी तब भी उसने रक्तदान किया। पिता चैनप्रकाश ने बताया कि बेटी प्रियंका शुरू से ही मानव सेवा से प्रेरित थी। उसने मेडिकल इंजीनियंरिग का क्षेत्र भी इसीलिए चुना। उनकी एक और बेटी दिव्या है, जो यहां सरदार पटेल मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस कर चुकी हैं और अब पीजी कर रही हैं।

बीकानेर का नाम रोशन होने पर उनके परिवारजनों और जानकारों में खुशी व्याप्त है।

 

 

अपना उत्तर दर्ज करें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.