पहला आइडिया सेंटर खुलेगा बाफना में, 40 विद्यार्थियों ने बताए बिजनेस प्लान

2167

ग्राहक का मनोभाव समझना जरूरी- शिवरतन अग्रवाल

Bikaner / khabarthenews.com

सेठ तोलाराम बाफना अकादमी में एक बिजनेस प्लास कॉन्टेस्ट का आयोजन शाला के वाणिज्य वर्ग की कक्षा 11वीं के ओंत्योप्रन्योरशिप के विद्यार्थियों हेतु किया गया जिसमें 40 विद्यार्थियों ने अपने-अपने बिजनस प्लान को प्रदर्शित किया।

शाला सीईओ डॉ. पी. एस. वोहरा ने बताया कि कॉन्टेस्ट के विजेताओं को 28 फरवरी को एक भव्य समारोह में पुरस्कृत एवं सम्मानित किया गया।

समारोह के मुख्य अतिथि प्रसिद्ध व्यवसायी शिवरतन अग्रवाल, आईएएस नवीन जैन, (सेकेट्री टू गोर्वमेन्ट ऑफ राजस्थान फॉर लेबर, इण्डस्ट्री, स्किल एण्ड ओंत्योप्रन्योरशिप) और आर. के. सेठिया, डिप्टी डायरेक्टर ऑफ डीआईसी, बीकानेर व्यापार मण्डल के अध्यक्ष जुगल राठी थे।

इस अवसर पर आईएएस नवीन जैन ने अपने सम्बोधन में कहा कि विद्यार्थियों द्वारा तैयार इन बिजनस प्लान्स से आने वाले वक्त में भारत के लिए बहुत कुछ हो सकता है। विद्यार्थियों द्वारा तैयार बिजनस प्लान्स में बहुत गुंजाईश है। उन्होंने स्कूली स्तर पर इस प्रकार की शिक्षा विद्यार्थियों को प्रदान करने के लिए स्कूल प्रबन्धन को धन्यवाद दिया।

उन्होंने कहा कि आने वाले समय में सरकार और उनका डिपार्टमेन्ट इस बात कि लिए प्रयास करेगा कि स्कूलों में एवं कॉलेजों में ओंत्योप्रन्योरशिप की दिशा में ठोस कार्य हो। इस दिशा में कार्य करने की प्रेरणा या सोच बाफना स्कूल के इस कार्यक्रम से मिली। उन्होंने कहा कि ओंत्योप्रन्योरशिप के लिए एक आईडिया सेन्टर बहुत जल्द की राज्य की स्कूलों एवं कॉलेजों में स्थापित करने जा रहे हैं जिसमें सबसे पहला आईडिया सेन्टर बाफना स्कूल में स्थापित होगा।

उन्होंने विद्यार्थियों को कहा कि आज के समय कॉमर्स एक बहुत लोकप्रिय सबजेक्ट बन गया है। कॉमर्स के विद्यार्थियों के लिए अनेक रास्ते बनाये गये जिनसे वे अपने आप को स्थापित कर सके। आपका बिजनस प्लान एक शुरुआत है जिसके माध्यम से आप अपने आप को भविष्य में एक ओंत्योप्रन्योर के रूप में स्थापित करेंगे।

बिजनस प्लान बनाने की आदत आपमें बनी रहनी चाहिए। व्यावसायिक जीवन में स्किल तथा ओंत्योप्रन्योरशिप को हमेशा याद रखे। इन दोनों पर कार्य करते रहिए जिससे आप भविष्य में एक बहुत बड़े तथा अच्छे उद्यमी बन सकते हैं और आप द्वारा स्थापित बिजनस कभी भी फ्लॉप नहीं हो सकता। उन्होंने कहा कि एक बिजनस प्लान में लोकेशन, ह्यूमन रिर्सोसेज तथा पूंजी का विशेष महत्व है। एक सफल बिजनस प्लान में इन तीनों पर विशेष ध्यान दिया जाता है।

प्रसिद्ध व्यवसायी शिवरतन अग्रवाल (फन्ना बाबु) ने विद्यार्थियों को अपने सम्बोधन में कहा कि किसी भी बिजनस को सफलता तभी मिलती है जब उसके पीछे सकारात्मक सोच हो। इसलिए अपने विचार बड़े रखने चाहिए। उन्होंने कहा कि ग्राहक के मनोभावों को समझना ही एक सफल व्यापारी का गुण है। अपने व्यापार की कमजोरी और मजबूती को समझना तथा उस पर कार्य करना आना चाहिए। व्यापार में धैर्य का बहुत बड़ा महत्व होता है। अपनी मंजिल को पाने के लिए धैर्य एवं सकारात्मक सोच के साथ आगे बढऩा चाहिए, सफलता निश्चित रूप से मिलेगी।

आर. के. सेठिया ने इस अवसर पर विद्यार्थियों को उनके द्वारा बनाये बिजनस प्लान पर रिसर्च करने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि सरकार के द्वारा अनेक क्षेत्रों में ओंत्योप्रन्योर को अपने बिजनस को स्थापित करने के लिए मदद व छूट दी जाती है। उन्होंने विभिन्न सरकारी योजनाओं को बताया जो नये ओंत्योप्रन्योर को व्यवसाय स्थापित करने के लिए दी जाती है।

डॉ. वोहरा ने बताया कि बाफना स्कूल के 40 विद्यार्थियों ने ओंत्योप्रन्योरशिप को एच्छिक विषय के रूपमें चुना है तथा इस विषय के माध्यम से उन्होंने बिजनस हेतु स्वयं को 60 से 70 प्रतिशत तक अपडेट एवं विकसित किया है। बिजनेस कैसे शुरू किया जाये, बिजनेस हेतु क्या क्या सोचना पड़ता है, बिजनेस में क्या क्या दिक्कतें आती है आदि अनेक बिन्दुओं पर अपनी जानकारी को विस्तृत किया है। बिजनेस आरम्भ करने के लिए ओंत्योप्रन्योरशिप के विद्यार्थियों में इन्ही बिन्दुओं को परखने एवं जांचने के लिए इस ‘बिजनेस प्लान कॉन्टेस्टÓ का आयोजन किया जा रहा है।

डॉ. वोहरा ने बताया कि बिजनेस प्लान कॉन्टेस्ट हेतु 11वीं के वाणिज्य वर्ग में ओंत्योप्रन्योरशिप विषय के 40 विद्यार्थियो ने जो प्रोजेक्टस तैयार किये थे उनमें सर्विस सैक्टर, मैन्यूफैक्चरिंग सैक्टर, हैल्थ सैक्टर, एन्टरटैनमेन्ट सैक्टर, ओटो सैक्टर, टूरिज्म सैक्टर आदि थे। विद्यार्थियों ने अनेक महत्वपूर्ण सैक्टर एवं कॉन्सैप्ट के बारे में विस्तृत विवरण तथा इनको कैसे स्थापित एवं संचालित किया जा सकें आदि को अपने बिजनस प्लान में बताया।

इन प्रोजेक्टस में विद्यार्थियों ने ये भी बताने कि कोशिश की कि अमुक प्रोजेक्टस इनोवेशन के रूप में है कि नहीं। इस हेतु विद्यार्थियों ने बाकायदा मार्केट रिसर्च भी की है। विभिन्न प्रकार के बिजनेस को स्थापित करने हेतु वातावरण, सुविधायें, कीमत, फाइनेंशर्स, रेवन्यू सोर्स, मार्केटिंग टूल्स सहित अनेक बिन्दुओं पर विस्तृत जानकारी विद्यार्थी अपने प्रोजेक्ट में बताई।

डॉ. वोहरा ने बताया कि बिजनेस प्लान कॉन्टेस्ट में नॉलेज पाटर्नर के रूप में जो संगठन एवं हस्तियां जुड़ी है, उनकी अपनी पहचान है। बिजनेस प्लान कॉन्टेस्ट में बिड़ला इन्स्ट्यूट्यूट ऑफ मैनेजमेंट टैकनोलॉजी (बिमटैक) नोयडा, ऐसोसिएशन फॉर बिजनेस ग्लोबल एडवान्समेंट (एजीबीए) यूएसए। जिला उद्योग मण्डल बीकानेर तथा 200 स्टार्टअप फाउंडरर्स का संगठन आदि हमारे नॉलेज पार्टनर के रूप में थे।

डॉ. वोहरा ने बताया कि विद्यार्थियो द्वारा तैयार इन प्रोजेक्टर्स को जांचने के लिए एक ज्यूरी पैनल भी बनाया गया है जिसमें बीकानेर के शिक्षा एवं उद्योग जगत की जानी-मानी हस्तियां शामिल थी जिनमें डॉ. गौरव बिस्सा (रिनाउन्ड मोटिवेशनल गुरू), डॉ. अदिती माथुर (रिनाउन्ड ऐकेमिडिशियन), सुधीश शर्मा (रिनाउन्ड चार्टड अकाउन्टेन्ट), डॉ. धनेश खत्री (रिनाउन्ड ऐकेमिडिशियन), संजय कक्कड़ (मार्केटिंग एण्ड कोर्पोरेट कम्युनिकेशन स्पेशलिस्ट), प्रवीन पुगलिया (रिनाउन्ड इन्डस्ट्रीयलिस्ट), राजेश अग्रवाल (रिनाउन्ड इन्डस्ट्रीयलिस्ट), भुवनेश श्रीमाली (रिनाउन्ड बिजनस एनालेसिस्ट) थे। इन्होंने 27 फरवरी को विद्याथियों के प्रोजेक्टस को जांचने एवं परखने का कार्य किया।

समारोह में विजेताओं को पुरस्कृत किया गया। प्रथम विजेता पूजा मून्धड़ा को 21000, द्वितीय विजेता यश दफ्तरी व हितेश कोचर को संयुक्त रूप से 11000 तथा तृतीय विजेता कोमल पारख को 5000 रूपये की धनराशि प्रदान की गई। इस समारोह में नगर की अनेक गणमान्य हस्तियां उपस्थित थी जिनमें लूणकरण छाजेड़, सुधीश शर्मा, चार्टड अकाउन्टेन्ट, गौरव बिस्सा, के. सी. बोथरा, नवीन चुग, जितेन्द्र धारणिया, राजेश अग्रवाल (सागर होटल), हंसराज डागा, हरीश राजपाल (ए.जी.एम., एस.बी.आई) सहित अन्य मौजूद थे।

खबर द न्यूज के वाट्सएप ग्रुप में शामिल होने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें

https://bit.ly/2Xoxpax

अपना उत्तर दर्ज करें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.