ये शख्स करवाता था गर्भस्थ शिशु की लिंग जांच, अब सलाखों के पीछे

2403


ओके डायग्नोस्टिक सेंटर किया सीज, 15 हजार रुपए बरामद
बीकानेर। राज्य पीसीपीएडीटी दल ने शहर के एक सोनोग्राफी सेंटर पर सफल डिकॉय ऑपरेशन को अंजाम देते हुए गर्भस्थ शिशु के लिंग जांच में लिप्त एक दलाल को हिरासत में ले लिया है। अध्यक्ष राज्य समुचित प्राधिकारी पीसीपीएनडीटी एवं एनएचएम मिशन निदेशक नवीन जैन के निर्देशन में व सीएमएचओ डॉ. देवेन्द्र चौधरी के नेतृत्व में हुई इस कार्यवाही में सादुल गंज स्थित ओके डायग्नोस्टिक सेण्टर के दस्तावेज जब्त कर एहतियातन व परीक्षण के लिए सोनोग्राफी मशीन के उपयोग पर आगामी आदेशों तक रोक लगा दी हैं। लिंग जांच की एवज में लिए गए 15000 रुपए भी दलाल से बरामद कर लिए गए। आरोपी को सोमवार को विशेष पीसीपीएनडीटी न्यायलय में पेश किया जाएगा। डायग्नोस्टिक सेंटर के संचालक अयूब खान और डॉ. ओ.पी. भाम्भू की इसमें लिप्तता की भी जांच की जा रही है। डिकॉय को सफलतापूर्वक अंजाम देने वाले डेप रक्षकों में राज्य पीबीआई थाने की सीआई अर्चना मीणा, कांस्टेबल देवेन्द्र सिंह व बाड़मेर पीसीपीएनडीटी समन्वयक विक्रम सिंह चम्पावत भी शामिल रहे।
यूं आया पकड़ में
सीएमएचओ डॉ. देवेन्द्र चौधरी ने बताया कि लूणकरणसर निवासी इमरान नामक व्यक्ति द्वारा गर्भस्थ शिशु के लिंग जांच करवाने की सूचना जिला पीसीपीएनडीटी प्रकोष्ठ को मिल रही थी। इमरान निजी अस्पतालों / डायग्नोस्टिक सेंटरों के पीआरओ और जांच सामग्री आपूर्ति से सम्बंधित कार्य से जुड़ा रहा था। पिछले एक महीने से इस शख्स की रेकी की जा रही थी। इस संबध में अध्यक्ष राज्य समुचित प्राधिकारी पीसीपीएनडीटी जैन के निर्देशानुसार डिकॉय ऑपरेशन की योजना बनाई गई। योजनानुसार सीकर पीसीपीएनडीटी समन्वयक नंदलाल पूनिया ने दलाल से सम्पर्क साधा और लिंग जांच के लिए आग्रह किया। दलाल इसके लिए तैयार हो गया और उन्हें रविवार को सुबह 9 बजे रेलवे स्टेशन के सामने बुलाया। यहां डिकॉय गर्भवती महिला, उसकी सहयोगी महिला और पूनियां पहुंच गए। दलाल ने तय राशि लेकर गर्भवती और पूनिया को अपनी मोटरसाइकिल पर बिठाया और डूंगर कॉलेज रोड स्थित गायनेकोलोजिस्ट डॉ. अनीता बेनीवाल को दिखाया। डॉ. बेनीवाल ने उन्हें सोनोग्राफी करवाने की सलाह लिखी। आरोपी दलाल उन्हें उसी रोड पर स्थित ओके डायग्नोस्टिक सेंटर ले गया और वहां जांच जल्दी करवाने का आग्रह किया। सोनोलोजिस्ट डॉ. ओ.पी. भाम्भू ने गर्भवती की सोनोग्राफी की। दलाल वापिस सेंटर के अन्दर गया और बाहर आकर लडक़ा होने की बधाई दी। इशारा पाते ही वहां पहले से मौजूद राज्य पीसीपीएनडीटी दल ने इमरान को दबोच लिया।

अपना उत्तर दर्ज करें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.