बीकानेर : 20 घंटों की बारिश से शहर ना केवल भीगा, हड़बड़ाया भी, देखें फोटो और वीडियो

8763

बीकानेर। शनिवार शाम 5 बजे शुरू हुई बारिश ने बीकानेर व आसपास के गांवों को लबालब कर दिया है। शनिवार रात को रुक-रुक कर बरसने के बाद रविवार दोपहर 1 बजे तक लगातार कभी तेज व कभी धीमी बारिश से शहर और उपनगरीय क्षेत्रों के निचले इलाकों में पानी भरने की सूचना है।

सेटेलाइट अस्पताल क्षेत्र, गिन्नाणी, सूरसागर, मुरलीधर कॉलोनी, गंगाशहर, भीनासर, सुजानदेसर आदि क्षेत्रों में तो पानी से कई घरों को नुकसान भी पहुंचा है।

सोशल मीडिया पर मिले अपडेट्स, वाट्सअप पर वायरल वीडियो व फोटुओं के साथ फेसबुक लाइव के ट्रेंड ने मानों पूरे शहर को 7डी ऑडिटोरियम में तब्दील कर दिया।

सोशल मीडिया से जुड़ा हर कोई घरों की छतों से या गली के नुक्कड़ से बरसाती सैलाब को लाइव अपडेट कर रहा था।

कहीं मजा, कहीं सजा

शनिवार व रविवार को हुई इस मुसलाधार बारिश से जहां छुट्टी। के चलते नौकरी-पेशे वालों को मौसम का मजा मिल रहा था, गर्म पकोड़ों-कचोरी-समोसों का लुत्फ उठा रहे लोगों के लिए काफी आनन्ददायी रहा, वहीं जिनके घरों में पानी घुस गया उनके माथे पर चिंता की लकीरें साफ नजर आ रही थीं।

कई दुकानों और गोदामों में पानी घुसने से व्यापारियों को नुकसान हुआ, वहीं ट्रेन व बसों के रुक जाने से लोगों का आवागमन भी बाधित हो गया।

तालाब लबालब

कोलायत में शनिवार रात्रि तक तीन पेड़ी खाली बताई जा रही थी जो रविवार सुबह तक पूरा भर गया। संसोलाव व हर्षोलाव तालाब के साथ ही धरणीधर का नवनिर्मित तालाब भी भर गया है। सूरसागर के किनारे बनी पत्थर की ग्रिल पानी के दबाव से बह गई और करीब गत दस वर्षों में जो सूरसागर कृत्रिम साधनों से नहीं भरा जा सका वो रविवार को हुई बारिश से लगभग पूरा भरने को है। ऐसे में शाम तक फिर ऐसी ही बारिश हो गई तो क्षेत्र को बचाने के लिए जूनागढ़ की खाई दीवार तोड़नी पड़ सकती है

 

सभी फोटोज व वीडियो सोशल मीडिया से साभार हैं.

अपना उत्तर दर्ज करें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.