बीकानेर भाजपा जिलाध्यक्ष काउंटडाउन

0
2461

बीकानेर में भाजपा अध्यक्ष कौन होगा इसके लिए अटकलों का दौरे जारी है ।माना जा रहा है 10 तारीख के बाद इसकी घोषणा हो जाएगी हालांकि पहले यह कहा गया था कि भाजपा के

अर्जुन मेघवाल की मुहर जरूरी

 

 

मोहन सुराणा
दीपक पारीक

 

प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया के लंदन जाने से पहले ही शायद हो जाए। बीकानेर में शहर और देहात जिलाध्यक्ष के दो पद है शहर जिला अध्यक्ष के लिए जद्दोजहद ज्यादा मानी जा रही है। दरअसल निकाय चुनाव के परिणामों के बाद बीकानेर भाजपा में ही माना जा रहा है कि अर्जुन मेघवाल की पसंद के बिना किसी का भी अध्यक्ष पद पर आसीन होना नामुमकिन सा है ।ऐसे में शहर भाजपा अध्यक्ष के लिए मोहन सुराणा, दीपक पारीक का नाम अर्जुन मेघवाल कैंप से सामने आ रहा है तो वही संघ और संगठन में पकड़ के नाते विजय आचार्य भी अपनी दावेदारी बनाए हुए हैं।

दरअसल भाजपा के महामंत्री मोहन सुराणा अर्जुन मेघवाल कैंप में लगातार अपनी सेवा दे रहे हैं साथ ही साथ भाजपा में भी वे सक्रिय हैं ।हालांकि यह बात सही है कि मोहन सुराणा के नाम पर अर्जुन मेघवाल कैंप के ही कुछ लोग नाखुश है लेकिन बावजूद उसके मोहन इसके मोहन सुराणा का नाम प्रथम माना जा रहा है। वहीं दूसरी तरफ अर्जुन मेघवाल कैम्प के भामाशाह बने दीपक पारीक भी दौड़ में बने हुए हैं तर्क दिया जा रहा है कि ब्राह्मण चेहरे को भी एडजस्ट किया जाए। ऐसे में दीपक पारीक का नाम सामने आ रहा है हालांकि अर्जुन मेघवाल के ही एक कैंप में दीपक पारीक की कार सेवा भी प्रदेश आलाकमान को की है। वहीं सबसे अलग आचार्य संगठन में अपनी और संघ के सहारे अपने नाम को बनाए हुए हैं बात करेगा कि क्या सतीश पूनिया अपने विश्वास वाले नाम के साथ आगे बढ़ेंगे या फिर अर्जुन के सहारे ही बीकानेर में भाजपा का संगठन चलाएंगे वहीं दूसरी तरफ देहात भाजपा जिला अध्यक्ष के लिए बिहारी बिश्नोई जो अभी देहात के जिला अध्यक्ष हैं इस पद पर बने रहना चाहते हैं हालांकि माना जा रहा है कि अर्जुन मेघवाल से उनके रिश्ते बाहर बने ही बेहतर हो अंदर खाने सब कुछ ठीक हो ऐसा नहीं है हमें दूसरी तरफ आजकल इस चर्चा ने भी जोर पकड़ लिया है कि अर्जुन मेघवाल की पसंद के बजाय देहात में उनके पुत्र रवि मेघवाल की पसंद ज्यादा मायने रखेंगे रवि मेघवाल यहां नोखा के कन्हैयालाल को भी दावेदार बनाए हुए हैं कुछ और नाम भी सामने आ रहे हैं लूणकरणसर विधायक सुमित गोदारा भी चाहते तो है कि उन्हें जिला अध्यक्ष मिल जाए लेकिन दूसरी तरफ बिहारी बिश्नोई गंभीर है और निश्चित तौर पर जाति समीकरण के साथ नजर आता है लेकिन फिर भी बीकानेर में भाजपा का अध्यक्ष कौन होगा ये अर्जुन मेघवाल की राय तय करेगी।

  • मोहन सुराणा – संगठन में काम का व्यापक अनुभव ,महामंत्री  रहे , चालाक लेकिन छपास के चक्कर में जल्दबाजी कर लेते है जिसका नुकसान होता है। अर्जुन मेघवाल के बेहद नजदीक
  •   विजय आचार्य- गम्भीर, प्रदेश संगठन और संघ में अच्छी पकड़ । मितभाषी होना ताकत पर प्रतिस्पर्धियों की तुलना में मितव्ययी । वर्तमान संगठन के कर्ता धर्ता विरोध में।

दीपक पारीक -अर्जुन मेघवाल के खास होने के साथ साथ उनके पुत्र रवि मेघवाल के भी नजदीक। मनी मैनेजमेंट में माहिर ,अवसर के पॉलिटिशयन हालांकि मेघवाल कैम्प में ही एक धड़ा विरोधी। कई  बड़े नेताओ के ड्राइंगरूम तक एंट्री।  कुछ स्थानीय नेताओं ने व्यवसाय को लेकर कार सेवा की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here