ऐसा गरीब प्रत्याशी, हर बार होती है जमानत जब्त

2268

khabarthenews.com

2019 लोकसभा चुनाव में एक तरफ जहां करोड़पति और लखपति उम्मीदवारों की लंबी सूची है, वहीं कुछ उम्मीदवार ऐसे भी हैं जिनके अकाउंट में एक भी पैसा नहीं है। यूपी के मुजफ्फरनगर में ऐसे ही एक लोकसभा प्रत्याशी मांगेराम कश्यप हैं। मांगेराम कश्यप और उनकी पत्नी दोनों के ही बैंक अकाउंट में एक भी रुपया नहीं है।

मांगेराम के साथ एक और दिलचस्प बात यह है कि वह वर्ष 2000 से हर बार चुनावी मैदान में होते हैं और हर चुनाव के साथ वह और गरीब हो जाते हैं। माना जा रहा है कि शायद 2019 लोकसभा चुनाव में मांगेराम सबसे गरीब उम्मीदवार हैं। 51 वर्षीय मांगेराम पेशे से वकील हैं। मांगेराम ने वर्ष 2000 में अपनी खुद की पार्टी बनाई। मांगेराम ने इस पार्टी का नाम ‘मजदूर किसान यूनियन पार्टी’ रखा। इसके बाद हर आम चुनाव में अपनी पार्टी से मांगेराम मैदान में उतरे। मांगेराम कहते हैं, पार्टी के साथ करीब 1000 लोग जुड़े हुए हैं। इनमें ज्यादातर लोग मजदूर हैं।

इस बार मांगेराम फिर लोकसभा चुनाव के लिए मैदान में हैं। नामांकन के दौरान अपने हलफनामे में मांगेराम ने बताया कि ना उनके पास नकदी है, ना बैंक में एक भी रुपया है और ना ही जेवर हैं। हलफनामे में यह भी जिक्र है कि उनकी पत्नी बबीता चौहान के पास भी कोई नकदी नहीं है। उनके बैंक में भी जीरो बैलेंस है और उनके पास भी कोई जेवर नहीं हैं। हलफनामे के मुताबिक करीब 5 लाख रुपये कीमत से एक 100 वर्गमीटर का प्लॉट उनके पास है। इसके अलावा 15 लाख रुपये का एक घर है। घर भी मांगेराम को ससुराल की तरफ से गिफ्ट में मिला है।

मांगेराम के पास 36 हजार रुपये कीमत की एक बाइक जरूर है। ऐसे में जबकि चुनावों में बड़ी-बड़ी गाडिय़ों में नेता रैली कर रहे हैं, मांगेराम लोगों के बीच पैदल पहुंचते हैं। मांगेराम ने कहा, मेरे पास बाइक है लेकिन हर रोज पेट्रोल के लिए पैसे नहीं हैं। मेरी पत्नी गृहणी हैं और मेरे दो बच्चे हैं। मुझे परिवार का भी ख्याल रखना है। मैंने कोई और नौकरी की तलाश की थी लेकिन मेरे मुताबिक कोई और नौकरी नहीं मिली।

मांगेराम ने आगे बताया, पिछले चुनावों में भी मैंने पैदल ही प्रचार किया। मांगेराम घर-घर तक पहुंचकर लोगों से खुद के लिए वोट की अपील जरूर करते हैं लेकिन चुनावों में उन्हें इसका फायदा नहीं मिलता है। यही वजह है कि हर बार चुनाव बाद उनकी जमानत जब्त हो जाती है और उन्हें हर बार नुकसान उठाना पड़ता है। हालांकि इस बार मांगेराम उत्साहित हैं और उन्हें लगता है कि परिस्थियां बदलेंगी।

खबर द न्यूज के वाट्सएप ग्रुप में शामिल होने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें

https://bit.ly/2Xoxpax

अपना उत्तर दर्ज करें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.